यूपी में महिलाएं सुरक्षित, योगीजी ने गुंडों को उनकी सही जगह पहुंचाया : PM मोदी

पीएम ने इस जनसभा में कहा कि ‘प्रयागराज हजारों सालों से हमारी मातृशक्ति की प्रतीक मां गंगा-यमुना-सरस्वती के संगम की धरती रही है. आज ये तीर्थ नगरी नारी-शक्ति के इतने अद्भुत संगम की भी साक्षी बन रही है. यूपी में विकास और महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए जो काम हुआ है, वो पूरा देश देख रहा है.’

उन्होंने कहा कि ‘मैं महिला स्वयं सहायता समूह की बहनों को आत्मनिर्भर भारत की चैंपियन मानता हूं, स्वयं सहायता समूह असल में राष्ट्र सहायता समूह है. राष्ट्रीय आजीविका मिशन के तहत 2014 से पहले के 5 साल में जितनी मदद दी गई, बीते 7 साल में उसमें लगभग 13 गुना बढ़ोतरी की गई है.’

बता दें कि पीएम ने स्वयं सहयता समूहों को यह हस्तांतरण दीनदयाल उपाध्याय योजना- राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (डीएवाई) के तहत किया है. इस मिशन के तहत जिसमें 80,000 स्वयं सहायता समूहों को प्रति समूह 1.10 लाख रुपये का सामुदायिक निवेश कोष (सीआईएफ) मिलेगा और 60,000 स्वयं सहायता समूहों को प्रति समूह 15,000 रुपये की चक्रीय (रिवॉल्विंग) निधि दी जाएगी.

ये भी पढ़ें : RSS प्रमुख से मुलायम की मुलाकात पर भड़की कांग्रेस, फोटो पोस्ट कर सपा ने दी शिष्टाचार की सीख

पीएम ने इस रैली में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार का बखान भी किया. उन्होंने कहा कि ‘5 साल पहले यूपी की सड़कों पर माफियाराज था, यूपी की सत्ता में गुंडों की हनक हुआ करती थी. इसकी सबसे बड़ी भुक्तभोगी मेरे यूपी की बहन-बेटियां थीं. उन्हें सड़क पर निकलना मुश्किल हुआ करता था. स्कूल, कॉलेज जाना मुश्किल होता था, आप कुछ कह नहीं सकती थीं, बोल नहीं सकती थीं क्योंकि थाने गईं तो अपराधी, बलात्कारी की सिफ़ारिश में किसी का फोन आ जाता था. योगी जी ने इन गुंडों को उनकी सही जगह पहुंचाया है.’

पीएम ने महिलाओं के अपने संबोधन में क्या-क्या कहा

पीएम ने इस कार्यक्रम में मोदी और योगी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि ‘बेटियां कोख में ही ना मारी जाएं, वो जन्म लें, इसके लिए हमने ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ अभियान के माध्यम से समाज की चेतना को जगाने का प्रयास किया. आज परिणाम ये है कि देश के अनेक राज्यों में बेटियों की संख्या में बहुत वृद्धि हुई है.’

ये भी पढ़ें : ”आने वाले 5 सालों में अमेरिका जैसी होंगी यूपी की सड़कें” : केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने किया वादा

प्रधानमंत्री ने कहा कि ‘हमने गर्भवती महिलाओं के टीकाकरण, अस्पतालों में डिलिवरी और गर्भावस्था के दौरान पोषण पर विशेष ध्यान दिया. प्रधानमंत्री मातृवंदना योजना के तहत गर्भावस्था के दौरान 5 हज़ार रुपए महिलाओं के बैंक खाते में जमा किए जाते हैं ताकि वो उचित खान-पान का ध्यान रख सकें. उत्तर प्रदेश में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत दिए गए 30 लाख घरों में से 25 लाख घर महिलाओं के नाम पर पंजीकृत हुए.’

पीएम ने लड़कियों की शादी की कानूनी उम्रसीमा को बढ़ाने वाले बिल का जिक्र करते हुए विपक्ष पर निशाना भी साधा. उन्होंने कहा कि ‘बेटियों के लिए शादी की उम्र को 21 साल करने का प्रयास किया जा रहा है। देश ये फैसला बेटियों के लिए कर रहा है लेकिन किसको इससे तकलीफ हो रही है ये सब देख रहे हैं.’

Leave a Reply