भास्कर EXPLAINER: टिकट टू UAE; गोल्डन वीसा से राह आसान, बिजनेस में 100% मालिकाना

0

2 दिन पहले

  • कॉपी लिंक

97 लाख की आबादी वाले इस देश में भारतीयों की तादाद करीब 30% है।

संयुक्त अरब अमीरात (UAE) ने स्टूडेंट, उद्यमी और अन्य क्षेत्रों में महारत रखने वालों के लिए गोल्डन वीसा शुरू किया है। अब विदेशी यूएई में आसानी से रह सकेंगे, काम और व्यापार भी कर सकेंगे। 97 लाख की आबादी वाले इस देश में भारतीयों की तादाद करीब 30 फीसदी है। आइये जानते हैं UAE के गोल्डन वीसा के बारे में…

UAE का गोल्डन वीसा क्या होता है?
2019 में यूएई ने लॉन्ग टर्म रेजिडेंस यानी गोल्डन वीसा योजना शुरू की। इससे कोई भी विदेशी यूएई में रह सकता है, काम और पढ़ाई कर सकता है।

इस वीसा के लिए कहां आवेदन करना होगा?
गोल्डन वीसा पाने के लिए यूएई के फेडरल अथॉरिटी फॉर आईडेन्टिटी एंड सिटीजनशिप (आईसीए) कार्यालय से संपर्क करना होगा। इस कार्यालय का नंबर 600522222 है। ऑफलाइन जानकारी के लिए जनरल डायरेक्टोरेट रेजिडेंसी एंड फॉरेनर्स अफेयर्स (जीडीआरएफए) से संपर्क किया जा सकता है।

वीसा पाने के लिए योग्यता क्या है?
यूएई सरकार के अनुसार निवेशक, उद्यमी, विशेष योग्यता वाले लोग, वैज्ञानिक और उच्च अंक पाने वाले विद्यार्थी इस गोल्डन वीसा को पाने के योग्य हैं। गोल्डन वीसा 5 और 10 साल के लिए जारी होगा। स्वत: नवीनीकरण हो जाएगा। वीसा व्यक्तिगत और पूरे परिवार के लिए लिया जा सकता है।

क्यों अहम है ये वीसा?
इस वीसा को पाने के बाद यूएई में बिजनेस में 100 फीसदी स्वामित्व प्राप्त होता है। गोल्डन वीसा से यूएई में स्पॉन्सर पाने की जरूरत भी नहीं होती है।

स्टूडेंट को कैसे मिल सकता है ये वीसा?
गोल्डन वीसा के लिए स्टूडेंट को किसी भी सरकारी अथवा प्राइवेट स्कूल से 95 फीसदी नंबरों के साथ सेकंडरी सर्टिफिकेट होना जरूरी है। यूनिवर्सिटी में एडमिशन के लिए 3.75 का जीपीए (ग्रैंड प्वाइंट एवरेज) होना चाहिए।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply